Atma Management Committee

आत्मा प्रबन्धन समिति के सदस्य:
1. जिला कृषि पदाधिकारी, लखीसराय अध्यक्ष
2. परियोजना निदेशक आत्मा, लखीसराय सदस्य
3. मुख्य वैज्ञानिका, पाट अनुसंधान केन्द्र, लखीसराय सदस्य
4. कार्यक्रम सम्नवयक, कृषि विज्ञान केन्द्र, लखीसराय सदस्य
5. सहायक पाट विकास पदाधिकारी लखीसराय सदस्य
6. जिला पशुपालन पदाधिकारी, लखीसराय सदस्य
7. जिला गव्य विकास पदाधिकारी, लखीसराय सदस्य
9. जिला उद्यान, पदाधिकारी, लखीसराय सदस्य
9. जिला मत्स्य पदाधिकारी, लखीसराय सदस्य
10. जिला सहकारिता पदाधिकरी, लखीसराय सदस्य
 11. उप परियोजना निदेशक, आत्मा, लखीसराय सदस्य
आत्मा प्रबन्धन समिति के मुख्य कार्य:
1. जिले के विभिन्न समाजिक आर्थिक समूहों तथा कृषकों को पेश आ रही समस्याओं तथा विवशताओं की पहचान        करनेs हेतु समय-समय पर भागीदारी/सहभागी ग्रामीण मूल्यांक (पी० आर० ए०) करना ।
2. जिले के सामरिक अनुसंधान तथा प्रसार योजना को एकीकृत रूप में तैयार करना जो लघु या मध्यम अवधि की अनुकूल अनुसंधान के साथ-साथ प्रौद्योगिकी वैद्यीकरण तथा परिष्करण तथा प्रसार की प्राथमिकताओं को निर्दिष्ट कर सके । ये प्राथमिकताएँ पी० आर० ए० के दौरान प्रतिबिम्वित हुई होगी ।
3. वार्षिक कार्य योजना तैयार करना तथा आत्मा शासी परिषद को समीक्षा सम्भावी रूपान्तर एवं स्वीकृति हेतु प्रस्ताव करना ।
4. प्रौद्योगिकी प्रसार इकाई (टी० डी० यू०) भारत सरकार को लेखा परीक्षण के उद्देश्य से प्रस्तुत करने के लिए परियोजना लेखों का उचित रख-रखाव करना ।
5. भागीदारी लाइन विभाग, क्षेत्रीय अनुसंधान केन्द्र, कृषि विज्ञान केन्द्र, गैर सरकारी संस्थाओं व निजी क्षेत्रों की फर्मो के माध्यम से इन वार्षिक कार्य योजनाओं का निष्पादन को समन्वय करना ।
6. प्रखण्ड स्तर पर समन्वय प्रक्रिया को स्थापित करना जैसे कृषि सूचना एवं सलाहकार केन्द्र जो प्रखण्ड व गाँव स्तर पर प्रसार व प्रौद्योगिकी हस्तान्तरण की गतिविधियों को एकीकृत करेंगे ।
7. वार्षिक निष्पादन प्रतिवेदन को शासी परिषद को उपलब्ध करना जो विभिन्न अनुसंधान, प्रसार तथा सम्बद्ध लक्ष्यों को उल्लेखित करें जिनका वास्तव में निष्पादन करके उपलब्धियाँ प्राप्त की गई है ।
8. शासी परिषद से प्राप्त नीति निर्देश, निवेश फैशलो तथा अन्य निर्देशन पर अमल करना व शासी परिषद को सचिवालय सुविधा उपलब्ध करना ।